जमुई में जवानों ने किया नक्सलियों का ठिकाना ध्वस्त

जमुई में जवानों ने किया नक्सलियों का ठिकाना ध्वस्त

बिहार के जमुई में उग्रवादियों के विरूद्ध अभियान (Anti Naxal Operation) में सुरक्षाबलों को सफलता मिली है सीआरपीएफ (CRPF) की 215वीं बटालियन और क्षेत्रीय पुलिसबल ने बरहट के जंगलों में सर्च ऑपरेशन चलाते हुए उग्रवादियों के ठिकाना को ढूंढ कर उसे ध्वस्त (Naxali Hideout Destroyed) कर दिया सुरक्षाबलों ने यहां से सैकड़ों जिंदा कारतूस, मोबाइल फोन, वॉकी-टॉकी समेत उग्रवादी डॉक्यूमेंट्स और सामान बरामद किया है जवानों ने 15 किलो का आईईडी बम (IED Bomb) भी बरामद किया है जिसे उग्रवादियों ने जंगल जाने वाले सड़क मार्ग पर लगा रखा था इसका मकसद तलाशी अभियान करने आए सुरक्षाबलों और पुलिस को निशाना बनाते हुए उन्हें हानि पहुंचाने की थी लेकिन अलर्ट सुरक्षाबलों ने इस आईईडी बम को बरामद कर उसे जंगल में सावधानीपूर्वक विस्फोट कर नष्ट कर दिया

जमुई पुलिस के द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक बरहट क्षेत्र के जंगल में चलाए गए सर्चिंग अभियान के दौरान 15 किलो के आईईडी बम के अतिरिक्त 113 जिंदा कारतूस, वॉकी टॉकी, तीन मोबाइल फोन, मोबाइल की बैटरी, उग्रवादी यूनिफार्म, उग्रवादियों के पर्सनल डायरी, उग्रवादी झंडा, बैनर, आठ आधार कार्ड, कई वोटर कार्ड, पैन कार्ड समेत अन्य डॉक्यूमेंट्स बरामद किया गया है पुलिस अधीक्षक (एसपी) शौर्य सुमन के निर्देश पर सीआरपीएफ और इंटेलिजेंस की गुप्त सूचना के आधार पर यह कार्रवाई की गई थी, जिसमें बरहट पुलिस के अतिरिक्त सीआरपीएफ 215 की टीम शामिल थी

पुलिस उग्रवादियों के खिलाफ इस ऑपरेशन को बड़ी कामयाबी मान रही है साथ ही उस क्षेत्र में और भी तलाशी अभियान चलाकर उग्रवादियों पर नकेल कसने की बात कह रही है