चुनावों के दौरान धार्मिक स्थलों में ना जाएं पार्टी के बड़े नेता

चुनावों के दौरान धार्मिक स्थलों में ना जाएं पार्टी के बड़े नेता

राजस्थान के उदयपुर में कांग्रेस पार्टी का चिंतन शिविर जारी है जिसमें पार्टी के तमाम बड़े और छोटे नेता हिस्सा ले रहे हैं अब इस शिविर में मांग की गई है कि चुनावों के समय पार्टी नेतृत्व मंदिर, मस्जिद, चर्च या दूसरे धार्मिक स्थलों में ना घूमें चिंतन शिविर में उपस्थित कुछ सदस्यों ने ये प्रस्ताव रखते हुए बोला है कि ऐसा करने से कांग्रेस पार्टी के वोटर भ्रमित होते हैं और इससे ठीक संदेश नहीं जाता

धर्मनिरपेक्षता को लेकर भी स्टैंड लेने की बात
यही नहीं, इस प्रस्ताव में इस बात पर भी जोर दिया गया कि कांग्रेस पार्टी को भाजपा के सामने एक मजबूत धर्मनिरपेक्ष स्टैंड लेना चाहिए बता दें कि भाजपा के धार्मिक सियासी रुख को देखते हुए पिछले कुछ वर्षों में हुए चुनावों में अक्सर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को भिन्न-भिन्न धार्मिक स्थलों पर जाकर दर्शन करते देखा गया है माना जाता है कि इसके पीछे कांग्रेस पार्टी की सोची समझी रणनीति थी, लेकिन चुनाव नतीजों पर नजर डालें तो कांग्रेस पार्टी को इसका कोई लाभ नहीं हुआ

सोनिया गांधी ने ली थी बैठक
इससे पहले कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी के चिंतन शिविर के दूसरे दिन पार्टी महासचिवों, प्रदेश प्रभारियों, प्रदेश इकाई के अध्यक्षों, विधायक दल के नेताओं और कई अन्य वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक की सूत्रों का बोलना है कि इस बैठक में, चिंतन शिविर में विभिन्न विषयों पर हुई अब तक की चर्चा और संगठन को मजबूत बनाने को लेकर मंथन किया गया इस बैठक में कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा, संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और कई अन्य नेता उपस्थित थे

बता दें कि कांग्रेस पार्टी के इस चिंतन शिविर के पहले दिन शुक्रवार को सोनिया गांधी ने कांग्रेस पार्टी में आमूलचूल परिवर्तन की पैरवी करते हुए बोला था कि असाधारण परिस्थितियों का मुकाबला असाधारण ढंग से किया जाता है


नए प्रदेश अध्यक्ष पर बोले रमन

नए प्रदेश अध्यक्ष पर बोले रमन

छत्तीसगढ़ बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष और संगठन के बाकी पदाधिकारी बदले जाने की चर्चा है. जल्द ही से लेकर छत्तीसगढ़ बीजेपी कोई बड़ा निर्णय कर सकती है. इस मुद्दे पर डॉ रमन सिंह ने अपना बयान दिया है. दरअसल कई नेता अध्यक्ष बनने की ख़्वाहिश जाहिर कर चुके हैं. डॉ रमन सिंह ने बोला कि हर किसी के मन में अध्यक्ष बनने की ख़्वाहिश होती है, कौन नहीं बनना चाहेगा अध्यक्ष, कुछ लोगों ने तो नए कपड़े भी सिलवा लिए हैं.

डॉ रमन सिंह ने यह बयान रायपुर के एयरपोर्ट पर दिया. शनिवार को वह राजस्थान से लौट आए . दरअसल राजस्थान में राष्ट्रीय पदाधिकारियों की दो दिवसीय बैठक थी. छत्तीसगढ़ से इस बैठक में शामिल होने डॉ रमन सिंह, पवन साय, विष्णु देव साय और प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी पहुंची हुई थीं.

वर्किंग प्रोफेशनल बीजेपी का नया टारगेट
छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम और बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रमन सिंह ने राजस्थान से लौटने के बाद बताया कि अब बीजेपी अपने नए टारगेट के अनुसार काम करेगी . वर्किंग प्रोफेशनल्स को पार्टी से जोड़ा जाएगा. राष्ट्रीय पदाधिकारियों की हुई बैठक में पीएम मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने तमाम नेताओं को यह लक्ष्य दिया है. अब पार्टी चिकित्सक वकील, पत्रकार, चार्टर्ड अकाउंटेंट जैसे भिन्न-भिन्न प्रोफेशन से जुड़े ऐसे लोगों को बीजेपी से जोड़ेगी.

डॉ रमन सिंह ने बताया कि बैठक में पीएम मोदी की बातें काफी प्रेरणादायक रहीं. उन्होंने वर्तमान सियासी स्थिति पर बीजेपी की किरदार पर चर्चा की. उन्होंने यह भी बोला कि कांग्रेस पार्टी में परिवारवाद की वजह से वह पार्टी पतन की ओर है . बीजेपी को विकासवाद के रास्ते से भटकना नहीं चाहिए . हम विकासवाद साथ लेकर चलते हैं. आज बीजेपी राष्ट्र में जिस मुकाम पर खड़ी है वह डेवलपमेंट की नीतियों की वजह से ही हुआ है. गांव गरीब किसान के लिए हितकर योजनाएं बनाने की वजह से ही हुआ है. परिवारवाद और अपनी गलत नीतियों की वजह से कभी राष्ट्र के सभी राज्यों में गवर्नमेंट बनाने वाली कांग्रेस पार्टी आज केवल दो राज्यों में सिमट कर रह गई है.