आईजी हेमंत कलसन पर फिर कई आरोप लगे

आईजी हेमंत कलसन पर फिर कई आरोप लगे

पहले से ही विवादों में फंसे हरियाणा होमगार्ड के आईजी हेमंत कलसन पर फिर कई आरोप लगे हैं. तीन दिन पहले पंचकूला के हॉस्पिटल में नर्स एवं अन्य स्टाफ के साथ दुर्व्यवहार के आरोप में कार्रवाई की प्रक्रिया चल ही रही थी कि हेमंत को एक और मुकदमा में अरैस्ट कर कारागार भेज दिया गया है. मामला पिंजौर का है. उधर, हॉस्पिटल में दुर्व्यवहार मुद्दे में हेमंत को गवर्नमेंट ने सस्पेंड कर दिया है.

ताजा आरोप है कि पिंजौर की रतपुर कालोनी में बृहस्पतिवार रात हेमंत ने दुकान में घुसकर विकलांग दुकानदार तलविंदर सिंह से हाथापाई की. पूरा वाकया सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया जो सोशल मीडिया पर वायरल हो चुका है. पिंजौर पुलिस आईजी हेमंत को थाने लेकर आई. आरोप है कि वहां भी उन्होंने खूब हंगामा किया और रात्रि ड्यूटी पर तैनात थाना मुंशी के साथ दुर्व्यवहार किया. इसी दौरान दुकानदार के साथ पूर्व पार्षद सतिंदर टोनी व अन्य लोग भी आए. उन्होंने जब आईजी हेमंत को एसएचओ की कुर्सी पर बैठे देखा तो लोगों ने इसका विरोध किया. दुकानदार ने आईजी पर दुकान में घुसकर मारपीट, गाली गलौज और जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है. पुलिस ने रात को ही आईजी का मेडिकल करवाया और विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर सुबह कालका की न्यायालय में पेश किया, जहां से हेमंत को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में अंबाला सेंट्रल कारागार भेज दिया गया. दुकानदार का आरोप है कि आईजी के साथ एक लड़की भी थी. दोनों नशे में थे. उधर, पंचकूला मुद्दे में हेमंत के निलंबन आदेश में बोला गया है कि उन्होंने अपने कार्यालय की शक्तियों का दुरुपयोग किया और विभाग की गरिमा को ठेस पंहुचाई. निलंबन के दौरान उनका हेडक्वार्टर हरियाणा के डीजीपी का कार्यालय होगा और संबंधित प्राधिकारी की अनुमति के बिना स्टेशन को नहीं छोड़ेंगे. यहां गौरतलब है कि हेमंत कलसन को पंचकूला में अगस्त 2019 में एक स्त्री के घर में जबरन घुसकर दुर्व्यवहार करने के मुद्दे में भी अरैस्ट किया गया था. पिंजौर में एक घर में घुसकर स्त्री और उसकी बेटी से छेड़छाड़ का वीडियो भी वायरल हुआ था. एक बार चुनावी ड्यूटी पर तमिलनाडु पहुंचे कलसन ने वहां रेस्ट हाउस में एक सुरक्षा गार्ड का हथियार छीनकर फायरिंग भी की थी. उसमें भी हेमंत को सस्पेंड किया गया था.


बिहार में बिजली गिरने से 33 लोगों की मौत,नरेंद्र मोदी ने जताया शोक

बिहार में बिजली गिरने से 33 लोगों की मौत,नरेंद्र मोदी ने जताया शोक

पटना (एएनआई). बिहार में शुक्रवार को तेज आंधी के चलते 33 लोगों की मृत्यु हो गई है. जिसके बाद सीएम नीतीश कुमार ने इन हादसों में जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है. साथ ही सीएम कार्यालय ने बोला कि फसल और मकान के हानि का आंकलन कर प्रभावित परिवारों को सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिए जाएंगे. बता दें कि शहर में गुरुवार शाम आए तूफान ने कई घरों को तबाह कर दिया है और राज्य को भारी हानि पहुंचाया है.

कई घरों की छतें भी गईं हैं उड़ गईं

कटिहार में प्राकृतिक आपदा के कारण पहली बार हुई तबाही से क्षेत्रीय लोग प्रभावित हुए हैं. आई आंधी की तीव्रता ऐसी थी कि कई घरों की छतें भी उड़ गईं, जबकि कुछ बिजली के खंभे गिर गए और पेड़ उखड़ गए. नितिश कुमार ने ट्वीट करके बोला कि राज्य के 16 जिलों में आंधी एवं वज्रपात से 33 लोगों की मौत दुःखद. मृतकों के आश्रितों को तत्काल 4-4 लाख रु० अनुग्रह अनुदान देने तथा आंधी एवं वज्रपात से हुई गृह क्षति एवं फसल क्षति का आकलन कर प्रभावित परिवारों को जल्द से जल्द सहायता राशि मौजूद कराने का निर्देश भी दिया गया.

प्रधानमंत्री ने भी जताया शोक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिंदी में ट्वीट किया कि बिहार के कई जिलों में आंधी एवं बिजली गिरने की घटनाओं में कई लोगों की मौत से अत्यंत दुख हुआ है. ईश्वर शोक-संतप्त परिवारों को इस अपार दुख को सहने की शक्ति दे. राज्य गवर्नमेंट की देखरेख में क्षेत्रीय प्रशासन राहत और बचाव कार्य में तत्परता से जुटा है.