अखिलेश के बयान पर डिप्टी सीएम का पलटवार

अखिलेश के बयान पर डिप्टी सीएम का पलटवार

डिप्टी मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने राजस्व लेखपाल मुख्य परीक्षा को लेकर सपा के मुखिया अखिलेश यादव पर बड़ा हमला किया है. उन्होंने बोला कि समाजवादी पार्टी गवर्नमेंट में हर पद की बोली लगती थी, एक-एक भर्ती में सालों लग जाते थे, तब भी रिज़ल्ट नहीं आ पाता था. पूरा कुनबा परीक्षा के पहले ही नौकरियों का सौदा कर लेता था. समाजवादी पार्टी गवर्नमेंट का शगल युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ बन गया था. 

यह बातें उन्होंने रविवार को पत्रकारों से वार्ता में कहीं. उन्होंने बोला कि समाजवादी पार्टी मुखिया के मुंह से भर्ती, परीक्षा और रिज़ल्ट की बात अच्छी नहीं लगती. युवाओं के सपने को रौंदने वालों को आज युवाओं की याद आ रही है, जिन्होंने गवर्नमेंट रहते कभी युवाओं के भविष्य के बारे में नहीं सोचा. समाजवादी पार्टी गवर्नमेंट में पहले तो सरकारी जॉब के लिए भर्ती निकलती नहीं थी. युवाओं के दबाव में यदि कोई भर्ती निकल भी गई, तो उसके लिए भी युवाओं को सालों इन्तजार करना पड़ता था. 

उन्होंने बोला कि सीएम योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल में हर भर्ती पूरी निष्पक्षता, पारदर्शिता और शुचिता के साथ पूरी हुई है. एक भी भर्ती में किसी अभ्यर्थी ने करप्शन के आरोप नहीं लगाए हैं. यह साबित करता है कि गवर्नमेंट युवाओं के भविष्य को लेकर अति संवेदनशील है. राजस्व लेखपाल मुख्य परीक्षा को लेकर एसटीएफ पहले से एक्टिव थी, जिसका नतीजा है कि 21 आरोपियों को अरैस्ट किया गया है. 

नकल माफिया समाजवादी पार्टी गवर्नमेंट की देन

डिप्टी मुख्यमंत्री ने बोला कि जिनके घर शीशों के हों, उन्हें दूसरे के घरों पर पत्थर नहीं फेंकने चाहिए. नकल माफिया समाजवादी पार्टी गवर्नमेंट की देन हैं. पूरे शिक्षा प्रबंध को समाजवादी पार्टी ने नकल माफिया के हाथों बेच रखा था. हमारी समाजवादी पार्टी मुखिया को राय है कि वह युवाओं को गुमराह करने के बजाय उन्हें ठीक राह दिखाएं.