राज्यमंत्री धर्मवीर प्रजापति ने जिला कारागार का किया निरीक्षण

राज्यमंत्री धर्मवीर प्रजापति ने जिला कारागार का किया निरीक्षण

संतकबीरनगर में राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार जेल और होमगार्ड विभाग, यूपी शासन धर्मवीर प्रजापति ने जिला जेल का निरीक्षण किया है. इस दौरान उन्होंने भाई-बहन के पवित्र त्योहार रक्षाबन्धन पर सभी कैदियों को राखी बंधवाने के लिए कारागार प्रशासन को आवश्यक निर्देश दिया है.

आपको बता दें कि शनिवार को राज्यमंत्री धर्मवीर प्रजापति साथ में धनघटा के विधायक गणेश चौहान ने जिले के भ्रमण के दौरान जिला जेल करते हुए कैदी बैरक, मेस, कारागार परिसर और जेल हॉस्पिटल का निरीक्षण कर परिसर में पौधरोपण किया है. निरीक्षण के दौरान कैदियों को दी जाने वाली सुविधाओं के बारे में सुधार के लिए कारागार प्रशासन को निर्देशित किया है. उन्होंने कारागार अधीक्षक को जेल में निरुद्ध बंदी और कैदियों को गुणवत्ता युक्त भोजन देने के निर्देश दिया है.

कैदियों से लिया व्यवस्थाओं के बारे में फीडबैक
इस दौरान हॉल में एकत्रित कैदियों से उनकी दिनचर्या और कारागार प्रशासन द्वारा कैदियों के साथ व्यवहार तथा उनके खाने पीने एवं रहने आदि से सम्बंधित व्यवस्थाओं के बारे में फीड बैक प्राप्त किया. कैदियों से एक शिक्षक की तरह मुखातिब होते हुए एक नेक आदमी बनने के तौर तरीको, अपने व्यवहार में परिवर्तन लाने हेतु अपने ईष्ट देव की साधना, गायत्री मंत्र का उच्चारण तथा कारागार से बाहर जाने के बाद अपनी समाजिक छवि बेहतर बनाये रखने तथा उत्तरदायी और समझदार नागरिक बनने के लिए परिवार के सदस्यों के साथ परिवारित समरसता एवं समाज में नेक कार्य करने की नसीहत दिया.

राज्य मंत्री ने कैदिया से जाना व्यवस्थाओं का हाल .

कारागार अधीक्षक को दिए आवश्यक दिशा निर्देश
राज्यमंत्री ने जेल अधीक्षक जीआर वर्मा को निर्देशित किया कि एमएसएमई/उद्योग विभाग से सामन्जस्य बना कर कारागार के अन्दर कैदियों को छोट-छोटे उत्पाद बनाने की रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण भी दिलाया जाए. इसके बाद उन्होंने हॉस्पिटल ब्लाक का निरीक्षण के दौरान अस्वस्थ्य कैदियों से उनका कुशल क्षेम पुछते हुए उन्हें फल वितरित किया. कैदियों द्वारा कारागार में शुद्ध पेय कारागार हेतु आरओ और टीवी की सुविधा मौजूद कराये जाने की मांग पर उन्होंने कैदियों को आस्वस्थ करते हुए जेल अधीक्षक को आवश्यक गाइड लाइन दिया है.

ये लोग रहे मौजूद
इस दौरान डिप्टी जेलर नयनकमल सिंह, एवं भोलानाथ भारती, डॉक्टर डाक्टर वरूणेश दूबे, फार्मासिस्ट डा डीपी सिंह, कारागार वार्डन सिद्धार्थ सिंह सहित अन्य अधिकारी/कर्मचारीगण आदि मौजूद रहे.