कानपुर : 15 अगस्त तक शामिल होने वाली दस बसों की पहचान यहां के क्रांतिकारीयों के नाम पर होगी,रोडवेज बसों के नामकरण पर मुख्यालय लेगा आखिरी फैसला

कानपुर : 15 अगस्त तक शामिल होने वाली दस बसों की पहचान यहां के क्रांतिकारीयों के  नाम पर होगी,रोडवेज बसों के नामकरण पर मुख्यालय लेगा आखिरी फैसला

कानपुर. कानपुर रोडवेज के बेड़े में 15 अगस्त तक शामिल होने वाली दस बसों की पहचान यहां के क्रांतिकारी शालिग्राम शुक्ल, गणेश शंकर विद्यार्थी और सत्तीचौरा के नाम पर होगी. प्रबंधन ने आजादी के अमृत महोत्सव पर कानपुर के क्रांतिकारियों के नाम पर बसों के नामकरण का निर्णय लिया है. आजादी के आंदोलन में हिस्सा लेने वाले नायकों के नाम को लेकर रोडवेज प्रबंधन ने बीजेपी उत्तर जिला संगठन और पूर्व राज्यमंत्री नीलिमा कटियार से सुझाव मांगे हैं. 

पहले चरण में शालिग्राम, गणेश शंकर विद्यार्थी और सत्तीचौरा के नाम भेजे गए हैं. कानपुर रीजन के अधिकारी इन नामों का प्रस्ताव बनाकर दो अगस्त तक मुख्यालय भेज देंगे. रोडवेज बसों के नामकरण पर मुख्यालय आखिरी फैसला लेगा. विधायक नीलिमा कटियार ने सिग्नेचर सिटी बस अड्डे का नामकरण प्रथम स्वतंत्रता आंदोलन के अगुवाकार नानाराव पेशवा की बेटी मैनावती के नाम पर रखने का सुझाव दिया है. सुझाव पत्र में बोला गया कि प्रथम स्वतंत्रता आंदोलन में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने वाली मैनावती के नाम पर नवाबगंज-बिठूर मार्ग का नामकरण पहले ही किया जा चुका है. 

14 साल की मैनावती को जिंदा जला दिया था
मराठा क्रांतिकारी नानाराव पेशवा की 14 वर्षीय बेटी मैनावती ने भी पिता के साथ अंग्रेजों से मोर्चा लिया था. साल 1857 की क्रांति में मेस्कर घाट से नाव से जाते समय अंग्रेजों से घिरे नानाराव और उनकी बेटी मैनावती ने स्त्री ब्रिगेड के साथ मुकाबला किया. उन्होंने बड़ी संख्या में अंग्रेज सैनिकों को मार गिराया था. नानाराव ने रानी लक्ष्मीबाई के साथ मैनावती को घुड़सवारी और तलवारबाजी सिखाने की जिम्मेदारी तात्या टोपे को सौंपी थी. बिठूर की मीनार में प्रवास के दौरान मैनावती और उनकी 150 क्रांतिकारी स्त्रियों को अंग्रेजों ने घेर लिया था. अंग्रेजों ने मैनावती सहित पूरी ब्रिगेड को ध्रुव टीला के पास जिंदा जला दिया था.

एक नजर में कानपुर रीजन के बसों का ब्योरा
रीजन के बेड़े में कुल बसें     485
एसी बसें                             60
नई बसें शामिल होंगी            10
कुल बसों की संख्या            555
बस अड्डे                             03 (अभी नाम चुन्नीगंज, झकरकटी, सिग्नेचर सिटी)