पीएम मोदी ने आगरा की मार्बल इनले टेबल टॉप उपहार में दी

पीएम मोदी ने आगरा की मार्बल इनले टेबल टॉप उपहार में दी

जर्मनी में आयोजित जी-7 समिट (G-7 Summit 2022) में पीएम नरेंद मोदी (PM Narendra Modi) ने इटली के पीएम मारियो द्राघी (Mario draghi) को मार्बल इनले टेबल टॉप उपहार में भेंट किया है स्टोनमैन क्राफ्ट से बनाई गई इस टेबल टॉप की इन दिनों खूब चर्चा हो रही है,जिसे आगरा की स्टोनमैन क्राफ्ट कंपनी ने बनाया है इस टेबल टॉप को इटालियन और मुगलिया डिजाइन के फ्यूजन से बनाया गया है बता दें कि जर्मनी में आयोजित G-7 समिट के दौरान पीएम मोदी ने इटली के पीएम के अतिरिक्त अन्य राष्ट्रों के नेताओं को भी भिन्न-भिन्न शहरों से बने समान गिफ्ट के तौर पर दिए हैं

आगरा की मार्बल इनले टेबल टॉप उपहार में दी जाने की जानकारी सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट के जरिए साझा की साथ ही प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार प्रकट किया इनले टेबल टॉप को बनाने में करीब 5-6 महीने का समय लगा और सात लोगों की टीम ने कड़ी मेहनत से इसे बनाकर तैयार किया है जो पूरी तरह से हैंडमेड है प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा इनले टेबल टॉप गिफ्ट करने के बाद से इससे जुड़े कारीगर बहुत उत्साहित और खुश नजर आ रहे हैं

जानिए इस टेबिल टॉप की कीमत
पीएम के द्वारा गिफ्ट में दिए जाने के बाद लोगों में इसकी मूल्य जानने की जिज्ञासा तेजी से बढ़ रही है जब हमने उसके निर्माता रजत अस्थाना से मूल्य के बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि यह बहुत नायाब है, उसकी कोई मूल्य नहीं है इसकी मूल्य इटली के पीएम को देने के बाद और बढ़ गई है हालांकि जब भी कोई गिफ्ट राष्ट्र के नेता के द्वारा दिया जाता है तो उसकी मूल्य का आकलन नहीं किया जाता ऑफिशियल तौर पर इसकी मूल्य भी नहीं जाहिर कर सकते हैं इतना बोला जा सकता है कि ये लाखों में तैयार की जाती है

ऐसे बनती है टेबल टॉप
आगरा के शास्त्रीपुरम में स्थित स्टोनमैन क्राफ्ट फैक्ट्री में इस टेबल टॉप को बनाया गया है इस फैक्ट्री के मालिक रजत अस्थाना बताते हैं कि टेबल टॉप पर बहुत बारीक काम किया जाता है, जो मुगल शासन काल से चला आ रहा है इस काम में हाथ से कारीगरी की जाती है टेबल टॉप को बनाने के लिए सबसे पहले संगमरमर का पत्थर लाया जाता है और उसे बड़ी मेहनत के साथ घिसकर आकार दिया जाता है इसमे बारीक पच्चीकारी का काम होता है ,छोटे-छोटे नायाब पत्थर को काट कर इसमें जोड़ा जाता है,जो विदेशों से आते हैं

साउथ से आता है टेबल टॉप का पत्थर
इनले मार्बल टेबल टॉप को बनाने के लिए साउथ से पत्थर आता है, जिसकी क्वालिटी बहुत उम्दा होती है पत्थर को तराशने के बाद में नक्काशी के तौर पर इसमें नायाब पत्थर छोटे-छोटे टुकड़ों के रूप में जोड़े जाते हैं

मुगल काल से होता चला रहा है आगरा में हैंडीक्राफ्ट का काम
आगरा में हैंडीक्राफ्ट का काम बहुत पुराना है मुगलकाल से आगरा के कारीगर पच्चीकारी करते चले आ रहे हैं यह कारीगरी पीढ़ी रेट पीढ़ी जिंदा है आगरा के गोकुलपुरा में हैंडीक्राफ्ट का काम बड़े स्तर पर किया जाता है यहां संगमरमर के छोटे-छोटे आर्टिकल तैयार किए जाते हैं, जिसमें बेबी ताज, छोटे हाथी ,संगमरमर के बनी देवी देवताओं की मूर्तियां और इसके साथ बेहतरीन डिजाइन के भिन्न-भिन्न प्रोडक्ट मिलते हैं

आप भी यहां से खरीद सकते है मार्वल के प्रोडक्ट्स
आप भी इनले टेबल टॉप और इससे जुड़े मार्बल के प्रोडक्ट शास्त्रीपुरम स्थित फैक्ट्री से खरीद सकते हैं इसके साथ ही आगरा में गोकुलपुरा हैंडीक्राफ्ट बाजार है यहां मार्बल से बने प्रोडक्ट्स का बड़ा काम है होलसेल में यहां मार्बल के छोटे-छोटे प्रोडक्ट मिलते हैंइसके साथ ही आगरा में अनेक डिस्ट्रीब्यूटर भी हैं जहां से आप मार्बल पत्थर के हैंडीक्राफ्ट का सामान खरीद सकते हैं ज्यादातर सदर बाजार, ताजगंज, राजा मंडी जैसे बाजारों में यह प्रोडक्ट सरलता से मौजूद हैं