होमगार्ड की मर्डर का खुलासा पुलिस के लिए बना चुनौती

होमगार्ड की मर्डर का खुलासा पुलिस के लिए बना चुनौती

कासगंज में होमगार्ड की मर्डर का खुलासा पुलिस के लिए चुनौती बना था, लेकिन पुलिस को जब इस मुद्दे के खुलासे की राह मिली तो भौचक्की रह गई. क्योंकि होमगार्ड की मर्डर के पीछे एक लापता पुरुष की मर्डर का राज भी छिपा था. पहले दोस्त की बेटी से गैर कानूनी संबंधों के चलते होमगार्ड ने दोस्त के साथ मिलकर पुरुष की पत्थर से सिर कुचलकर मर्डर कर दी और मृत शरीर काली नदी में डाल दिया. इसके बाद पत्नी से होमगार्ड के गैर कानूनी संबंध होने और पुरुष की मर्डर का राजदार होने के कारण दोस्त ने पत्नी के साथ मिलकर होमगार्ड की मर्डर कर दी. पुलिस ने हत्यारोपी पति-पत्नी को अरैस्ट करके कारागार भेजा है

एसपी रोहन प्रमोद बोत्रे ने बताया कि पुरुष चांद मियां पुत्र रहीस अहमद पिछले साल चार जुलाई को अपने घर से लापता हुआ था. वह घर से ढिलावली जाने की कहकर गया था. उसकी गुमशुदगी 14 जुलाई को दर्ज हुई. पुलिस पुरुष के लापता होने की जांच कर रही थी. तभी पुलिस को कुछ जरूरी जानकारियां मिलीं. जिन पर पुलिस ने काम प्रारम्भ किया. एसपी ने बताया कि सूचना के आधार पर मर्डर के शिकार हुए होमगार्ड बुधसेन के दोस्त मदन लाल उर्फ पुत्तू लाल को पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ की. 

होमगार्ड ने ब्लैकमेल कर आरोपी की पत्नी से बनाए थे संबंध 

पुलिस पूछताछ में मदनलाल ने बताया कि पुरुष चांद मियां (20) पुत्र रहीस अहमद निवासी मोहल्ला मोहन की मर्डर चार जुलाई को कालीनदी के किनारे शराब पिलाकर व सिर पर पत्थर से प्रहार करके कर दी और मृत शरीर नदी में फेंक दिया. इस मर्डर को होमगार्ड बुधसेन के साथ मिलकर अंजाम दिया गया. बताया गया कि इस घटना के बाद से होमगार्ड बुधसेन दोस्त मदनलाल को ब्लैकमेल करता रहा और उसकी पत्नी से गैर कानूनी संबंध बना लिए. जब भी मदनलाल मना करता तो होमगार्ड चांद मियां की मर्डर की जानकारी अन्य लोगों को बताने की धमकी देता था. 

मदनलाल होमगार्ड बुधसेन की धमकियों और पत्नी से गैर कानूनी संबंधों को लेकर परेशान था. उसने होमगार्ड को ठिकाने लगाने की योजना बना ली. मदनलाल ने पिछले साल दो सितंबर को पत्नी के साथ मिलकर होमगार्ड बुधसेन की गोली मारकर मर्डर कर दी. एसपी ने बताया कि सीओ सिटी दीपकुमार पंत, सदर कोतवाली इंस्पेक्टर धीरेंद्र मोहन एवं इंस्पेक्टर सोरोंजी रमेश भारद्वाज की टीम ने इस पूरे मुद्दे का खुलासा किया. उन्होंने बताया कि दोनों आरोपियों को कारागार भेजा गया है. 


गन्ना मंत्री का अखिलेश यादव पर तंज

गन्ना मंत्री का अखिलेश यादव पर तंज

मेरठ ज्ञानवापी मस्जिद मुद्दे पर उत्तर प्रदेश गवर्नमेंट के गन्ना मंत्री लक्ष्मीनारायण चौधरी विपक्षी पार्टियों पर जमकर बरसे इस दौरान उन्‍होंने अखिलेश यादव के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए बोला कि हमें पत्थर में भगवान दिखाई देता है मेरा नरसिंह भगवान पत्थर में प्रकट होता है साथ ही बोला कि समाजवादी पार्टी प्रमुख की मस्जिद में कोई मूर्ति नहीं होती है, इसलिए उन्हें भगवान नहीं दिखाई देता

यूपी के गन्ना मंत्री लक्ष्मीनारायण चौधरी ने बोला कि समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव को जुमे की नमाज अच्छी लगती है तो नमाज पढ़ें हमें यदि पत्थर में भगवान दिखाई देता है तो हम पूजा करेंगे इसके साथ गन्ना मंत्री ने ज्ञानवापी मुद्दे पर बोला कि ज्ञानवापी मस्जिद कहां से आ गई, वह शंकरजी का मंदिर है

आजम खान को लेकर कही ये बात
वहीं, आजम खान के रिहा होने पर भी मंत्री ने बोला कि उनका रिहा होना कोई बड़ी बात नहीं है यह न्यायालय का फैसला है न्यायालय ने 2 वर्ष तक उनको जमानत नहीं दी और अब जमानत दे दी है लक्ष्मीनारायण चौधरी ने बोला कि आजम खान की पार्टी को जनता ने नकार दिया है, तभी तो हम मंत्री हैं

गन्ना की एक एक पाई का भुगतान करेंगे
गन्ना मूल्य भुगतान को लेकर पूछे गए प्रश्न पर गन्ना मंत्री लक्ष्मीनारायण ने बोला कि किसान का गन्ना है और किसान की ही गवर्नमेंट है हम एक एक पाई का भुगतान करेंगे उन्‍होंने बोला कि 54 प्रतिशत फीसदी भुगतान कर दिया है जबकि 46 प्रतिशत बाकी है

इसके अतिरिक्त मेरठ के चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी में आयोजित किसान सम्मेलन में मंत्री ने शिरकत करते हुए बोला कि मैं इतना लोकप्रिय नहीं, लेकिन पश्चिम यूपी की वजह से मंत्री बना हूं उन्होंने बोला कि मैंने वेस्ट उत्तर प्रदेश की भूमि को मंदिर की तरह माना है और सभी किसानों को अपना आदर्श मानता हूं उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ की तुलना चौधरी चरण सिंह सिंह से करते हुए बोला कि मुख्यमंत्री के मठ में अभी भी 1500 एकड़ में गन्ना है इसके साथ गन्ना मंत्री ने बोला कि पुरानी चीनी मिलों में आधुनिक टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाएगा और 15 अक्टूबर से 30 अप्रैल तक गन्ने की पिराई का कोशिश किया जाएगा जब तक एक गन्ना भी खेत में खड़ा रहेगा एक भी फैक्ट्री बंद नहीं होगी