समाजवादी पार्टी ने आदिवासी समाज की महिला पर खेला दांव

समाजवादी पार्टी ने आदिवासी समाज की महिला पर खेला दांव

यूपी में विधान परिषद (UP MLC Election) की दो सीटों पर चुनाव हो रहा है इसके लिए 25 जुलाई से नामांकन भी प्रारम्भ हो चुका है इसी कड़ी में रविवार को सपा ने विधान परिषद उपचुनाव के लिए उम्मीदवार की घोषणा कर दी है पार्टी ने कीर्ति कोल को उम्मीदवार बनाया है वह एक अगस्त को नामांकन करेंगी समाजवादी पार्टी ने इस बारे में अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर जानकारी दी है कीर्ति मिर्जापुर की छानबे विधानसभा से पहले प्रत्याशी रह चुकी हैं वह आदिवासी समाज से आती है

विधान परिषद उपचुनाव के लिए समाजवादी पार्टी प्रत्याशी बनाई गईं कीर्ति कोल पूर्व सांसद और विधायक रहे भाईलाल कोल की बेटी हैं भाई लाल कोल के मृत्यु के बाद से कीर्ति कोल ही अपने पिता की सियासी विरासत को संभाल रही हैं बता दें कि उत्तर प्रदेश में विधान परिषद की जिन दो सीटों पर चुनाव हो रहा है, उनपर भाजपा की जीत तय मानी जा रही है वहीं, भाजपा ने शनिवार को दोनों सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा करते हुए धर्मेंद्र सिंह सैंथवार और निर्मला पासवान को चुनाव मैदान में उतारा है

सपा की ओर से किए गए ट्वीट के जरिये बताया गया कि आनें वाले यूपी विधानपरिषद उपचुनाव में कीर्ति कोल समाजवादी पार्टी की अधिकृत उम्मीदवार होंगी कीर्ति मिर्जापुर की छानवे विधानसभा से समाजवादी पार्टी की प्रत्याशी रह चुकीं हैं और आदिवासी समाज का अगुवाई करती हैं कोल 1 अगस्त को अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगी

दो सीटों पर होना है चुनाव

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश विधान परिषद में कुल 100 सीटें हैं जिनमें 73 सदस्य भाजपा के हैं जबकि दूसरे नंबर पर समाजवादी पार्टी के नौ सदस्य हैं इसके अतिरिक्त बहुजन समाज पार्टी, अपना दल (एस), निषाद पार्टी और जनसत्ता दल लोकतांत्रिक के एक-एक सदस्य हैं इसके अतिरिक्त शिक्षक दल के दो, निर्दलीय समूह से दो और निर्दलीय सदस्य के रूप में दो सदस्य हैं ऐसे में कुल मिलाकर 92 सीटे हुईं बची हुई 8 सीटों में दो सीटों पर चुनाव हो रहा है जिन दो सीटों पर चुनाव होने हैं, उनमें से एक सीट समाजवादी पार्टी एमएलसी अहमद हसन की मौत और ठाकुर जयवीर सिंह के इस्तीफे से खाली हुई हैं बची छह सीटें मनोनीत सदस्यों वाली हैं इन सीटों पर चुनाव नहीं होगा इन सदस्यों को गवर्नर मनोनीत करेगा

11 अगस्त को मतदान

दोनों सीटों पर एक अगस्त तक नामांकन होगा दो अगस्त तक नामांकन पत्रों की जांच होगी वहीं, चार अगस्त तक नाम वापस लिए जा सकेंगे जबकि 11 अगस्त को सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक मतदान होंगे