सरकारी सिविल कार्यों में आयेगी पारदर्शिता

सरकारी सिविल कार्यों में आयेगी पारदर्शिता

इससे विभागीय परियोजनाओं की सीधी जानकारी तथा इसकी रियल टाइम मॉनिटरिंग भी की जा सकेगी साथ ही ड्रोन एवं सेटेलाइट की सहायता से सर्वे का काम भी किया जाएगा विभाग में पहले से प्रचलित सृष्टि, विश्वकर्मा, चाणक्य, प्रहरी और न्यायालय मुकदमा मॉनिटरिंग सिस्टम के अन्तर्गत कार्य हो रहे है इसके उपरांत विभाग में विकसित किए जा रहे एस्टिमेटर, नज़र तथा डिजिटाइजेशन ऐप विकसित किया जा रहा है

विभाग में प्रचलित और विकसित किए जा रहे सॉफ्टवेयर को एकीकृत प्रणाली के अंदर लाया जा रहा है यह कार्य पूरा हो जानने के बाद मार्गों का नियोजन एवं निर्माण कार्यों का अनुरक्षण सुगमता से हो सकेगा

प्रदेश गवर्नमेंट की अहमियत के अनुरूप विभाग में ई ऑफिस प्रणाली लागू करने के उद्देश्य से डिजिटाइजेशन के कार्यों में तेजी लाते हुए, प्रदेश के पीडब्ल्यूडी कार्यालयों में 01 जनवरी 2023 से जरूरी रूप से ई ऑफिस प्रणाली लागू कर दिया जाएगा इसके लिए मुख्यालय स्तर पर 1 जुलाई 2022 से यह कार्य चरणबद्ध ढंग से प्रारंभ कर दिया जायेगा

सरकारी प्रवक्ता का बोलना है कि एस्टिमेटर सॉफ्टवेयर के माध्यम से विभाग में खंड स्तर पर गठित आगणन पूर्णरूपेण औनलाइन ही मुख्यालय स्तर पर प्राप्त किया जा सकेगा एस्टिमेटर लागू होने के उपरांत आगणन के गठन, विभिन्न स्तरों पर परीक्षणों में संशोधन की प्रक्रिया समयबद्ध रूप से एवं बिना अधिक कोशिश के संभव हो सकेगी इससे कार्य में पारदर्शिता आएगी एवं जन सामान्य को सुविधा भी होगी

इसके अतिरिक्त सड़कों की जीआईएस मैपिंग की जा रही है इससे सड़क के हर हिस्से को-आर्डिनेंट्स फीड हो जाएंगे जीआईएस मैपिंग का काम प्रारम्भ कर दिया गया है यह काम शीघ्र पूरा हो जायेगा